एकम विश्व शांति उत्सव में स्वागत है

12 सितंबर से 22 सितंबर, 2019

एकम विश्व शांति उत्सव सामाजिक सक्रियता नहीं, शांति के प्रति चैतन्य में एक चलन है।

एकम विश्व शांति उत्सव हिंसा के प्रति युद्ध नहीं है; यह प्रत्येक व्यक्ति को संघर्ष और विभाजन से आंतरिक शांति की ओर ले जाने का एक बदलाव है।

एकम विश्व शांति उत्सव दूसरों या समाज को बदलना नहीं है, यह व्यक्तिगत परिवर्तन का प्रयाण है। एक शांतिपूर्ण व्यक्ति अपने परिवार के लिए एक उपहार है, जो दुनिया में अच्छाई के प्रति एक प्रबल शक्ति है।

ध्येय
Watch Video
विश्व शांति के प्रति आपका योगदान

जैसे ही आप शांति चैतन्य के प्रति जागृत होते हैं, आप अपने स्नेहपूर्ण रिश्तों को ठीक करने के लिए सशक्त बन जाते हैं। आप अनुरागपूर्ण माता-पिता, एक संयुक्त जीवन साथी और अपने माता पिता के लिए करुणामय और समझदार बच्चे बनते हैं। आप अपने करीबी रिश्तों में इन सभी पहलुओं के प्रति जागृत हो जाते हैं।

आप एक शांतिपूर्ण लीडर, एक शांतिमय व्यापारी या एक प्रशान्तमय सामाजिक कार्यकर्ता बनते हैं, जो आपके कर्मचारियों, सहकर्मियों, आपकी टीम और आपके कार्य-जीवन का हिस्सा बनने वाले लोगों के दिलों में सहयोग और सह-अस्तित्व की संस्कृति को परिपोषित करेंगे।

आप एक ज़िम्मेदार नागरिक बनते हैं जो समाज और समुदाय की परवाह करते है और आप जीवन में उन लोगों के दिलों के भीतर शांति भरते हैं जिनमें आप प्रभाव और परिवर्तन ला सकते हैं। अंततः एक उत्साही शांतिदूत के रूप में आप विश्व चैतन्य को प्रभावित करेंगे और एक सुंदर ग्रह के लिए योगदान करेंगे।

एकम का विश्व शांति पर प्रभाव

एकम एक योगिक शक्तिस्थल है। बहुत पवित्र वास्तु सिद्धांतों और प्राचीन दिव्य ज्यामिति पर निर्मित, यह स्थल अपने में अद्भुत है। एकम को मानव चैतन्य को मुक्ति स्थितियों में बढ़ाने और विश्व परिवर्तन में तेजी लाने के लिए एक पवित्र उद्देश्य के साथ बनाया गया है। यह एक शक्तिशाली क्षेत्र है जहाँ व्यक्ति ब्रह्मांडीय चैतन्य या ईश्वर से जुड़ जाता है।

यहाँ ध्यान एक अद्भुत चमत्कारी घटना है। आलौकिकता एक अद्भुत चमत्कारी घटना है। मुक्ति स्थितियां या मुक्ति एक अद्भुत चमत्कारी घटना है।

जब असंख्य लोग एकम के गर्भगृह में बैठकर ध्यान करते हैं, उनके चैतन्य में अपार परिवर्तन होता है और मानव चैतन्य प्रवर्धित और संचारित होता है। इसके परिणामस्वरूप, विभिन्न शांति ऊर्जा केंद्रों में लोग, जो लोग एकम से जुड़ रहे हैं, उनके चैतन्य में बड़े पैमाने पर बदलाव का अनुभव करेंगे, इस प्रकार विश्व शांति के लिए प्रीताजी और कृष्णाजी का ध्येय पूरा होगा। यह हमारे विश्व में अधिक से अधिक अनुकम्पा, अधिक संगति और अधिकतम अनुक्रम के रूप में प्रकट होगा।

एकम विश्व शांति उत्सव के दौरान एकम में क्या होता है

12 सितंबर से 22 सितंबर, 2019

व्यक्तिगत चैतन्य और विश्व चैतन्य अलग नहीं हैं। विश्व में जो होता है, उसका असर व्यक्ति को प्रभावित करता है और व्यक्ति में जो होता है, वो विश्व को प्रभावित करता है। व्यक्ति और विश्व, चैतन्य स्तर में अविभाज्य हैं।

एकम विश्व शांति उत्सव के दौरान – एकम में कदम रखने वाले हर व्यक्ति को एकम अनंत अनुग्रह, आशीर्वाद प्रसारित करता है, और विश्व में शांति के लिए आलौकिक ऊर्जा को भी प्रसारित करता है।

एकम विश्व शांति उत्सव के दौरान, विशेष दीक्षाएँ और प्रक्रियाएं – जिन्हें दश शांति सिद्धि कहा जाता है, प्रतिदिन की सिद्धियों और उपासनाओं के साथ आयोजित की जाएगी।

दश-शांति सिद्धियाँ ऐसी विशेष प्रक्रियाएँ हैं जहाँ प्रत्येक दिन विश्व के विभिन्न पहलुओं में शांति लाने के लिए एक विशिष्ट संकल्प लिया जाता है। प्रत्येक संकल्प के लिए, धारक को स्वयं के लिए एक अनोखा आशीर्वाद प्राप्त होगा ।

दश शांति सिद्धियां

12 सितंबर
शांति ध्यान: विश्व के समस्त युद्ध समाप्त होने के लिए।
आपको चैतन्य में आंतरिक युद्ध और संघर्ष कम होने का आशीर्वाद प्राप्त होगा।
13 सितंबर
शांति ध्यान: प्रकृति के प्रति हिंसा का अंत होने के लिए।
आपके घरों में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होने का आशीर्वाद प्राप्त होगा।
14 सितंबर
शांति ध्यान: महिलाओं के प्रति हो रहे अत्याचार को समाप्त करने के लिए।
आपके परिवार की महिलाओं को शांतिपूर्ण रहने का आशीर्वाद मिलेगा।
15 सितंबर
शांति ध्यान: बच्चों के प्रति क्रूरता की समाप्ति के लिए।
आपके बच्चों और आने वाली संतति को शांति से जीने का आशीर्वाद प्राप्त होगा।
16 सितंबर
शांति ध्यान: विश्व में धार्मिक असहिष्णुता समाप्त होने के लिए।
आपको परमात्मा के साथ एक दृढ़ बंधन होने का आशीर्वाद मिलेगा।
17 सितंबर
शांति ध्यान: जातिय मतभेद की समाप्ति के लिए।
आपको समाज में अधिक सम्मान और स्वीकृति के साथ रहने का आशीर्वाद प्राप्त होगा।
18 सितंबर
शांति ध्यान: जानवरों के प्रति क्रूरता के अंत के लिए।
आपको महाकरुणा का आशीर्वाद प्राप्त होगा।
19 सितंबर
शांति ध्यान: घरेलू हिंसा का अंत होने के लिए।
आपके परिवार को शांति का आशीर्वाद प्राप्त होगा।
20 सितंबर
शांति ध्यान: युवाओं के मन में हिंसा का अंत होने के लिए।
आपके जीवन से जुड़े युवकों को अभिवृद्धि एवं शांतिपूर्वक जीने का आशीर्वाद प्राप्त होगा।
21 सितंबर
शांति ध्यान: आर्थिक शोषण के अंत के लिए।
आप जीवन में समृद्ध बनने का आशीर्वाद प्राप्त करेंगे।
22 सितंबर
यह दिन परिणति दिवस होगा और इस दिन का शांति ध्यान विश्व शांति और मानवता में सामूहिक विकास से एक शांतिपूर्ण भविष्य जीने के लिए होगा।
आपको प्राप्त होने वाला आशीर्वाद आपके चैतन्य जागृति या मुक्ति रूपी आध्यात्मिक विकास को तीव्रतर करता है।

विश्व शांति के शक्तिशाली प्रक्रियाओं में महानतम योगदान देने एवं सहभागी बनने के लिए हम आपका स्वागत करते हैं!

कार्यक्रम:

विश्व भर के शांतिदूत (पीस मेकर्स) शाम 6.30-7.30 बजे IST ऑनलाइन शामिल होते हैं।

प्रतिदिन हमारे साथ आप इसी समय में जुड़ेंगे। अंतिम दिन आप उत्सव के लिए हमारे साथ जुड़ेंगे।

कैंपस में शांतिदूत(पीस मेकर्स)- आपका कार्यक्रम सुबह शुरू होता है और एकम गर्भगृह में शांति ध्यान से समाप्त होता है।

हमारे समाज को जानें

एकम विश्व शांति दूत दुनिया भर के लोगों का एक निकाय है जो एक शांतिपूर्ण विश्व बनाने के लिए एक पवित्र ध्येय रखते हैं। हमारा मानना ​​है कि एक नूतन चैतन्य में जीने वाला केवल एक परिवर्तित व्यक्ति ही दूसरो के साथ परस्पर संबंध रख सकता है और सभी की भलाई में योगदान दे सकता है।

एकम विश्व शांति उत्सव आपके जीवन से जुड़े लोगों के जीवन को प्रभावित करना और विश्व चैतन्य के परिवर्तन में योगदान देकर ‘पीस मेकर’ बनने का एक बड़ा अवसर प्रदान करता है। प्रत्येक शांति दूत के पास एक शांति उर्जा केंद्र बनाने की संभावना है, जहां विश्व शांति के लिए न्यूनतम 23 लोग एकत्रित होकर ध्यान करते हैं ।

0
एकम विश्व शांति दूत
0
एकम शांति ऊर्जा केंद्र
0
एकम में सम्मिलित हों

पीस मेकर बनिए!

आगे बढ़ें और इस अद्भुत अवसर के लिए खुद को रजिस्टर करें।